Wednesday, 10 October 2007

बाजार में सस्ता बेचने की होड़

बड़े बड़े शापिंग माल खुल रहे हैं और उनमें सस्ता बेचने की होड़ लगी है। किशोर बियानी के पेंटालून समूह का यह नारा ही है कि इससे सस्ता और अच्छा और कहां। कई सामानों पर वे चैलेंज भी करते हैं। अब अगर हम एक सस्ती जींस की बात करें तो वह बिग बाजार में 299 रुपए की मिल जाती है।

 रफटफ ब्रांड की जींस  20 फीसदी छूट पर 240 रुपए में भी कई बार मिल जाती है। बिग बाजार को भारत में मुकाबला दे रहे आरपीजी समूह के दूसरे सुपर मार्केट चेन में भी जींस की कीमत न्यूनतम 299 रुपए ही है। वहीं जल्द ही इस दौड़ में शामिल होने वाले रिलायंस रिटेल की भी सस्तेमें जींस बेचने की बात चल रही है। इसके तहत वह महज 200 रुपए में जींस बेचने की सोच रही है। इसके लिए वह कई निर्माताओं से बात कर रही है। दुनिया के सबसे बड़े शापिंग माल की चेन वालमार्ट में एक जींस महज 10 डालर में मिल जाती है। यानी यह 450 रुपए के बराबर पड़ता है। विदेशों के हिसाब से यह सस्ता है। भारत के परिपेक्ष्य में देखें तो अभी यहां कपड़े और जूते विदेशों की तुलना में सस्ते हैं। बिग बाजार के फुटवियर बाजार में जूते 200 रुपए से मिलने आरंभ हो जाते हैं। हर सुपर मार्केट और हाईपर मार्केट के बीच कंप्टिशन चल रहा है। वे अपने कई प्रोडक्ट को सस्ता कहकर बेच रहे हैं। अगर परंपरागत बाजारों से तुलना करें तो ये चीजें वास्तव में सस्ती हैं। बिग बाजार में कोट सूट महज 1500 रुपए में मिल जाता है। अगर कपड़ा खरीदकर दर्जी से सिलवाने जाएं तो यह काफी महंगा पड़ सकता है।
जाहिर है सुपर मार्केट कच्चा माल या तैयार माल सीधे निर्माताओं से खरीदते हैं इसलिए उनके लिए सस्ते में बेच पाना संभव हो पा रहा है। बिग बाजार समूह की कंपनी पैंटालून तो रेडीमेड कपड़ों के कारोबार में पहले से ही रही है। बिग बाजार में एक रेडीमेड पैंट भी 200 रुपए से मिलना आरंभ हो जाता है। बिग बाजार को चुनौती देने वाली प्रमुख कंपनियां रिलायंस और आदित्य विक्रम बिड़ला भी मूल रूप से वस्त्र निर्माता कंपनियां है इसलिए वहां भी सस्ते में बेचने की होड़ होगी।
जांच परख कर करें खरीददारी-
फिर भी ग्राहकों को चाहिए कि इन सुपर मार्केट से सामान खरीदने से पहले भी अन्य सुपर बाजारों से रेट की जांच पड़ताल करनी चाहिए। यह तस्दीक जरूर करें कि सुपर बाजारों के रेट दावा क्या वाकई सही है। इसलिए अन्य बाजारों का भी दौरा करते रहें। कई प्रोडक्ट्स में देखा गया है कि वह सुपर मार्केट की तुलना में बाजार में सस्ता मिल जाता है। बाजार के छोटे-मोटे दुकानदारों से आप रेट को लेकर बारगेन भी कर सकते हैं। इसलिए सुपर मार्केट से भी आंखे मूंद कर खरीददारी न करें। अगर आप कोई ब्रांडेड प्रोडक्ट खऱीद रहे हैं तो उसके आफ्टर सेल्स सर्विस के बारे में भी जानकारी प्राप्त कर लें। हो सकता है उस प्रोडक्ट का सर्विस सेंटर आपके शहर में न हो और आपको परेशानी झेलनी पड़ जाए। कई बार देखा गया है कि लक्जरी आईटम और खिलौने आदि सुपर मार्केट में सस्ते नहीं मिलते। ब्रांडेड सामानों के रेट भी मिला लें। हां ग्राहकों को यह संतोष हो सकता है कि ऐसे सुपर बाजारों में किसी प्रोडक्ट के नकली मिलने की संभावना बहुत कम रहती है। इसलिए कई तरह के लोकप्रिय उत्पादों की खरीददारी आप बेहिचक कर सकते हैं।
vidyutp@gmail.com




No comments: