Monday, 13 November 2006

आपकी भाषा में बात करेगा कंप्यूटर

जी हां अब आपका कंप्यूटर आपकी भाषा में ही आपसे बात करेगा। यानी आप चाहें तो उसमें आप हिंदी उर्दू किसी भी भाषा में काम कर सकते हैं।विंडो एक्सपी के नए संस्करणों आपको अपनी भाषा के चयन की आजादी मिलती है।

 अगर आपने एक्सपी का कोई भी नया संस्करण लगाया है तो आप उसमें आप अपने देश की भाषा को एक्टिवेट कर सकते हैं। इसमें रिजनल सेटिंग में जाकर आपको अपने देश का नाम अपनी भाषा और की बोर्ड को सक्रिय भर करना है। जैसे आप अपने कंप्यूटर में हिंदी भाषा को सक्रिय कर सकते हैं। ऐसा करने के दौरान आपका कंप्यूटर एक्सपी की सीडी को मांगेगा। सीडी से वह आपकी भाषा के फाइलों को कापी कर लेगा। अगर आपको ऐसा करने में किसी तरह की परेशानी आ रही हो तो अपने साफ्टवेयर या हार्डवेयर इंजीनियर की मदद लें। अपनी भाषा को सक्रिय करने के बाद आपके कंप्यूटर स्क्रीन पर आपकी भाषा के सिंबल कंप्यूटर के नीचे वाले स्टार्ट बार में आएंगे। आप आल्ट और शिफ्ट कमांड एक साथ दबाकर भाषा परिवर्तन कर सकते हैं। 
अगर आपने हिंदी भाषा को सक्रिय कर लिया है तो आप वर्ड पैड साफ्टवेयर खोलकर उसमें हिंदी में कोई भी पत्र या अपने काम की कोई भी चीज टाइप कर सकते है। विंडो एक्सपी में फोनेटिक की बोर्ड की सुविधा हिंदी में उपलब्ध है जिसे याद करना बहुत आसान भी है। आप अपने कंप्यूटर में हिंदी के ट्रू टाइप के सैकड़ो पसंदीदा फांट भी लोड कर सकते है। ज्यादा फांट्स प्राप्त करने के लिए आप भारत सरकार द्वारा विकसित की गई वेबसाइट डब्लूडब्लूडब्लू . आईएलडीसी. ईन पर जा सकते हैं। यहां भारती ओपन के वर्ड प्रोसेसर के अलावा जिस्ट के सैकड़ो फांट्स उपलब्ध है।

हिंदी भाषा को विंडो एक्सपी में एक्टिवेट करने के बाद न सिर्फ इससे वर्डपैड पर बल्कि आप एमएस आफिस जैसे साफ्टवेयर में भी हिंदी में काम कर सकते हैं। साथ ही इन फाइलों को किसी के पास भी ई मेल कर सकते हैं। ये फाइलें आरटीएफ (रिच टेक्स फाइल) फारमेट में जाती हैं इसलिए इनको किसी भी साफ्टवेयर में खोला जा सकता है। अगर आपकी तरह ही जहां फाइल जा रही है वहां भी हिंदी भाषा एक्टिवेट किया हुआ हो तब और भी अच्छा। अगर आप हिंदी का कंप्यूटर पर तेजी से विकास चाहते हैं तो यह जानकारी अपने मित्रों को बांटे। इतना ही नहीं अगर आपके कंप्यूटर पर हिंदी भाषा एक्टिवेट है आपका जीमेल का एकाउंट भी हिंदी में खुलेगा और उसपर आप सीधे हिंदी भाषा में पत्र लिख कर किसी को भी भेज सकते हैं।

-विद्युत प्रकाश मौर्य