Friday, 25 July 2014

आपके फोन बुक का ऑनलाइन बैकअप

अपने सारे नंबर को गूगल कांटेक्ट में सेव करें नंबर कभी गुम नहीं होंगे। नए फोन में नंबर सेव करने में विकल्प आते हैं। इनमें नंबर को सिम या फोन मेमोरी में नहीं सेव करें। बल्कि एंड्राएड फोन में गूगल कांटेक्ट्स में सेव करें। ये सभी नंबर आपके जीमेल खाते में अपने आप अपडेट होते चले जाएंगे। फिर फोन गुम होने पर नंबर गुम होने का कोई झंझट नहीं रहेगा।

अगर आप एंड्राएड मोबाइल फोन का इस्तेमाल कर रहे हैं तो कोई भी नया नाम या फोन नंबर सेव करने से पहले फोन के पूछे जाने वाले  विकल्प पर ध्यान दें। नंबरों को सिम या फोन कांटेक्ट की जगह गूगल कांटेक्ट में सेव करें। एंड्राएड फोन इस्तेमाल करने वाले ज्यादातर लोगों की जीमेल पर ईमेल आईडी होती है। इसके बिना एंड्राएड के सभी अप्लिकेशन काम नहीं करते। जब आप एंड्राएड फोन पहली बार आन करते हैं तो अपने जीमेल आईडी का सेटअप फोन में स्थापित करें। इसे इंटनेट आन करने के बाद फोन के साथ सिंक कर दें। सिंक ऑन रहने की स्थित में गूगल फोन बुक में सेव किया गया हर नाम पता अपने आप आपके जीमेल कांटेक्स में अपडेट होता रहेगा। जब किसी पीसी या लैपटाप पर आप अपना जीमेल एकाउंट खोलते हैं तब बायीं तरफ जीमेल लिखा आता है। वहां पर क्लिक करें तो कांटेक्स टैब खुलता है। इसे क्लिक करने पर आपकी कांटेक्ट बुक खुल जाती है।

कहीं से भी करें अपडेट
इसे आप अपने ईमेल खाते में भी और फोन में अपडेट करते रह सकते हैं। कहीं भी कोई नया नाम फोन नंबर पता अपडेट करने पर यह आपके फोन और जीमेल अकाउंट दोनो जगह अपडेट हो जाएगा। अगर आप अपने जीमेल एकाउंट को फोन पर हमेशा ऑन या सिंक नहीं रखना चाहते तो आप ये प्रक्रिया 15 दिन या एक महीने में अपना सकते हैं। इससे भी आपके जीमेल के कांटैक्ट्स अपडेट होते रहेंगे। सिंक ऑन रहने पर बैटरी ज्यादा खर्च होती है।

नहीं गुम होंगे फोन नंबर
अक्सर लोग फोन गुम होने पर फेसबुक पर संदेश भेजकर दोस्तों से उनके फोन नंबर मांगते हुए देखे जाते हैं। अगर आपने गूगल कांटेक्ट्स में पते सुरक्षित रखे हैं तो अब इसकी कोई जरूरत नहीं पडेगी। अगर कभी आपका फोन गुम या चोरी हो जाता है, तब भी आप अपने सारे नंबरों को अपने जीमेल एकाउंट के कांटैक्ट्स में देख सकते हैं।

नए फोन में आ जाएंगे सभी पुराने नंबर
जब आप नया फोन ले लेते हैं और उसमें जैसे ही अपने जीमेल एकाउंट को सिंक करेंगे सारे नाम और फोन नंबर जो आपके पुराने फोन में थे अपने आप नए फोन में आ जाएंगे। आपको फिर से अपने फोन बुक में नाम फोन नंबर टाइप करने की कोई जरूरत नहीं पड़ेगी। गूगल कांटेक्स में न सिर्फ नाम फोन नंबर बल्कि, ईमेल, पता, कंपनी नाम और मल्टीपल फोन नंबर भी सेव किए जा सकते हैं।

फोन बुक सुरक्षित करने के दूसरे तरीके
आप अपने फोन बुक का सारा डाटा एसडी कार्ड से केबल द्वारा अपने लैपटाप या पीसी में कापी कर लें। इस डाटा की वर्ड फाइल बनाकर कहीं सेव कर लें। अच्छा होगा कि इस फाइल को अपने ईमेल से किसी अपने दूसरे ईमेल पर भेज दें। इससे आपके नाम पतों की सूची आपके ईमेल से सेंड फोल्डर में भी पड़ी रहेगी। संकटकाल में आप इसे वहां से प्राप्त कर सकते हैं। आप इस एड्रेस बुक फाइल का प्रिंट निकाल कर भी रख सकते हैं।

- विद्युत प्रकाश मौर्य



No comments: