Sunday, 6 November 2016

देश के हर कोने में भगवान भास्कर को अर्ध्य देकर मनाया छठ

छठ सिर्फ बिहार और उत्तर प्रदेश का उत्सव नहीं रह गया है। हर साल दिल्ली मुंबई और पंजाब से लाखों लोगों के छठ करने की तस्वीरें आती हैं। पर इस साल आप देश के कोने कोने से छठ की तस्वीरें देख सकते हैं.


देश के द्वीप राज्य अंडमान निकोबार में लोग बड़ी श्रद्धा से समंदर किनारे छठ मनाते हैं। यहां पिछले दो सौ सालों से बिहार और यूपी के लोग जाकर बसने का सिलसिला जारी है। वहां का छठ देख यूं लगता है जैसे पटना का घाट हो। समंदर के किनारे नारियल के पेड़ों का झुरमुट और छठ के गीत....



दक्षिण भारत में चेन्नई में देश के सबसे विशाल समुद्र तट मरीना बीच पर भी बड़ी संख्या में लोग छठ व्रत करते हैं।


कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरू में छठ पर आस्था के साथ गीत संगीत का रंग भी देखने को मिलता है। बेंगलुरू के कई इलाके में बिहार का समाज बड़ी संख्या में मौजूद है जो लंबे समय से छठ की तैयारी में लगा रहता है।



तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में विशाल हुसैनसागर झील के किनारे बिहार यूपी के लोग बड़ी श्रद्धा से छठ के लिए जुटते हैं। तो हैदराबाद के वनस्थलीपुरम इलाके में भी लोग हर साल छठ मनाते हैं।




पूर्वोत्तर के सबसे बड़े शहर गुवाहाटी में ब्रह्मपुत्र के किनारे भी हजारों परिवार छठ करते हैं। गुवाहाटी से लेकर ठिब्रूगढ़, तिनसुकिया जैसे असम के हर शहर में छठ का का त्योहार उल्लास से मनाया जाता है।




बंगाल के दुआर्स इलाके में भूटान की सीमा से लगे छोटे से शहर हासीमारा में भी बिहार का समाज है जो छठ का त्योहार पूरी आस्था से तोरसा नदी के तट पर मनाता है, यहां तैनात फौजी भी इसमें पूरा सहयोग करते हैं। 
- vidyutp@gmail.com

( सभी चित्र दोस्तों के फेसबुक वाल से साभार ) 

No comments: