Tuesday, 5 July 2005

बीमा से भी होती है बचत

जब आप बीमा करवाते हैं तो यह समझते हैं कि चलो जीवन को सुरक्षित कर लिया। पर बीमा करनावाने का मतलब सिर्फ जीवन के जोखिम से सुरक्षा ही नहीं है बल्कि आप इसके द्वारा भी रुपयों की बचत कर सकते हैं। इसलिए हर थोड़ी से आय वाले व्यक्ति को भी अपना बीमा जरूर करवाना चाहिए।

 मान लिजिए आपने 25 साल की आयु में एक बीमा करवा लिया तो आप 10 साल बाद पाएंगे कि आपने बहुत बड़ी राशि बचत कर ली है। वास्तव में बीमा के रुप में बचत की जाने वाली राशि अनिवार्य बचत के रुप में हर तिमाही, छमाही या सालाना किश्त के रुप में जमा होती जाती है। इसका फायदा आपको कई सालों बाद जाकर दिखाई देता है।

कम उम्र में करें प्रवेश - आमतौर पर लोग बीमा आयकर बचाने के लिए ही करवाते हैं। यह सही है कि बीमा आयकर बचाने का अच्छा साधन है। पर जो लोग आयकर की सीमा में नहीं आते हैं उन्हें भी बीमा करवा लेना चाहिए। अगर आप कोई भी बीमा पालिसी जितनी छोटी उम्र में खरीदते हैं उसमें आपको प्रीमियम की राशि भी कम देनी पड़ती है। साथ ही जब आप आयकर की सीमा में आएंगे आप अपने बीमा में की गई सालाना बचत पर आयकर में छूट का लाभ ले सकते हैं।

नौनिहालों का बीमा कराएं- अगर आपके घर किसी नई संतान का आगमन हो तो उसके नाम भी बीमा जरूर कराएं। अगर आप उसके जन्म के साल से ही बचत की शुरूआत कर देते हैं तो 20 साल की उम्र के होने पर एक अच्छी खासी राशि जमा हो जाती है। जो बेटे के कैरियर संवारने में या बेटी की शादी में मददगार हो सकता है। 

बचत का अच्छा विकल्प -आजकल बाजार में ऐसी बीमा पालिसियां भी मौजूद हैं जो बीमा के साथ ही बचत करने का भी अच्छा विकल्प प्रदान करती हैं। इसलिए कोई भी बीमा कराने से पहले अलग अलग कंपनियों द्वारी दी जा रही बीमा पालिसियों का अच्छी तरह अध्ययन कर लें। फिर आप देखें की कोई नसी पालिसी आपके काम की है। जैसे कुछ पालिसियां म्यूच्यूल फंड के बाजार से लिंक्ड होती हैं। उनमें आपके रुपए तेजी से बढ़ते हैं। यानी बीमा के साथ अच्छा रिटर्न भी।

अगर आपके पास किसी साल निवेश करने को अतिरिक्त पैसा है तो आप अपनी बीमा पालिसी में ही टाप अप कर सकते हैं। इसके लिए किसी और फंड में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। बाजार में आजकल जीवन बीमा निगम के अलावा एक दर्जन निजी बीमा कंपनियों के भी विकल्प मौजूद है। कोई भी बीमा करवाने से पहले कंपनियों द्वारा दिए जाने वाले आफरों का अच्छी तरह अध्ययन कर लें। इससे आपको कई तरह के लाभ हो सकते हैं। हर बीमा में एक फ्री लुक पीरियड भी होता है। अगर आपको बीमा की शर्तें मंजूर नहीं हैं तो आप अपना बीमा रद्द करवा कर पैसे वापस भी ले सकते हैं।
 
-         विद्युत प्रकाश मौर्य 
  vidyutp@gmail.com

( BIMA, SAVING )